Flight Mode Kya Ha Airplan Mode Kya Hai

Flight Mode Kya Hai | एयरप्लेन मोड क्या है पूरी जानकरी हिंदी में 2021

आजकल के सारे स्मार्टफोन में एरोप्लेन मोड या फ्लाइट मोड का ऑप्शन आप सब ने देखा होगा और जो लोग हवाई जहाज में ज़्यादा सफर करते हैं उन्होंने ने इसका कई बार इस्तेमाल भी किया होगा और शायद अपने ने भी इसका इस्तेमाल कभी न कभी  किया होगा। क्या आप जानते हैं Airplane Mode या फ्लाइट मोड क्या है और यह ऑप्शन किस लिए दिया जाता है इसको कहां पर इस्तमाल किया जाता है।

आज इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको एरोप्लेन मोड या फ्लाइट मोड के बारे में पूरी जानकारी देने वाले हैं जिससे आपको यह पता चलेगा फ्लाइट मोड को कहां और कब इस्तेमाल किया जाता है। फ्लाइट मोड को कई अन्य नाम से भी जाना जाता है किसी स्मार्टफोन में Airplan Mode है किसी में फ्लाइट मोड का ऑप्शन होता है।

आज इस पोस्ट में हम आपको  फ्लाइट मोड के बारे में बताने वाले हैं। फ्लाइट मोड क्या है फ्लाइट मोड का काम क्या है।फ्लाइट मोड में इंटरनेट कैसे चलाया जाता है। प्लैन में फ्लाइट मोड को क्यों लगाया जाता है। आज हम इसी के बारे में जानकरी देने वाले है। सबसे पहले यह जान लेते है फ्लाइट मोड क्या है।

Flight Mode Kya Hai Airplan Mode Kya Hai
Flight Mode Kya Hai Airplan Mode Kya Hai

Flight Mode Kya Ha | Airplan Mode Kya Ha

फ्लाइट मोड का ऑप्शन आपको एंड्राइड Ios एप्पल स्मार्टफोन में यह ऑप्शन देखने को मिल जाता है। फ्लाइट मोड ऐसा ऑप्शन होता है। जिस से  स्मार्टफोन को बिना Switch Off  किए ही फ़ोन को बंद कर सकते हैं। Flight Mode लगाने के बाद आपके फोन पर कोई भी कॉल टेक्स्ट मैसेज, BlueTooth, Gps का यूज़ नहीं कर सकते हैं।

जैसे ही आप फ्लाइट मोड या एरोप्लेन मोड अपने फोन में On करगें तो यह सारे ऑप्शन Automatic ही बंद हो जाते हैं। Flight Mode को On एक्टिवेट करने के बाद आपके मोबाइल में ट्रांसमिशन सिग्नल पूरी तरह बंद हो जाता है।     तो आसान भाषा में कहें तो आप अपने मोबाइल से ना तो किसी को कॉल कर सकते हैं।

ना s.m.s. भेज सकते हैं और ना ही किसी का कॉल आ सकता है आपके मोबाइल पर और ना ही आप किसी को कॉल कर सकते है आने मोबाइल से क्यों कि   हमरा स्मार्ट फ़ोन आस-पास के नेटवर्क टावर Tower को स्कैन करने की कोशिश करता रहता है और उससे Communicate करने की कोशिश लगातार करता रहता है।

ताकि आपके मोबाइल में हमेशा नेटवर्क मिलत रहे और आपको किसी भी तरह का नेटवर्क प्रॉब्लम ना हो लेकिन अगर आप ऐसी जगह पर जाते है जहां पर दूर-दूर तक नेटवर्क टावर ही नहीं है तो ऐसे में आपका मोबाइल Signal सिग्नल को Boost करने की कोशिश करता है करता है। यह काम स्मार्टफोन बार बार करता रहता है। फ्लाइट मोड लगाने के बाद यह सब बंद हो जाता है।  

Airplan Mode फ्लाइट मोड को कैसे लगते है।

फ्लाइट मोड को लगाने के लिए आपको अपना नोटिफिकेशन पैनल नीचे करना होगा और फ्लाइट मोड या एयरप्लेन मोड का ऑप्शन दिखेगा आपको उस पर प्रेस  कर देना है और आपके फोन में फ्लाइट मोड ऑन हो जाएगा फ्लाइट मोड को एक्टिवेट करने के बाद एरोप्लेन का आइकॉन दिख जाता है। या तो आप अपने मोबाइल की setting में जा कर भी Flight Mode को ऑन कर सकते है।

इसको एक्टिवेट करने के बाद आपके मोबाइल में Network, डेटा कनेक्शन, Wifi, ब्लू टूथ ऑटोमेटिक Off हो जाता है हालांकि आप इसको बाद में मैनुअली Manually ऑन कर सकते हैं। वाईफाई और ब्लूटूथ को ऑन किया जा सकता है। लेकिन फोन कॉल्स को और SMS को ना बेजा जा सकता है ना ही Recieve किया जा सकता है।

Airplan Mode फ्लाइट मोड का क्या काम है

फ्लाइट मोड के बारे में तो हमने आपको बता दिया है फ्लाइट कोड क्या है और कैसे काम करता है लेकिन शायद आपके दिमाग में एक सवाल आ रहा होगा कि फ्लाइट मोड का ऑप्शन फोन में क्यों दिया गया है। अगर हम फोन को स्विच ऑफ कर सकता है तो हमारी यह सारे ऑप्शन डिसएबल हो जाएंगे लेकिन इसका मेन काम क्या है।

Airplan Mode फ्लाइट Mode का यूज कहां किया जाता है। फ्लाइट मोड को कई जगह use किया जाता है जैसे कोई Metting मीटिंग हो तो वह भी अपने फोन को फ्लाइट मोड पर करने के लिये बोला जाता है। अपने भी कही देखा होगा  जहां आपको भी बोला गया होगा अपने स्मार्टफोन को फ्लाइट मोड पर डाल दे।

एग्जाम सेंटर में भी आपने कई बार देखा होगा अगर आप अपना फोन साथ लेकर गए हैं आप से फोन ले लिया जाता है और बोला जाता कि आप अपने फोन को स्विच ऑफ या फ्लाइट मोड लगा दे।

Instagram Reel Remix Kya Hai

Flight Mode से बैटरी को Save किया जा सकता है।

अपने फोन को फ्लाइट मोड में लगाकर अपने स्मार्टफोन की बैटरी को Save किया जा सकता है। स्मार्टफोन जो रेेडियो फ्रीक्वेंसी नेटवर्क टावर के लिए भेजता रहता है उस से स्मार्टफोन की बैटरी का भी इस्तेमाल होता है अगर आप अपने फोन में फ्लाइट मोड लगा देंगे तो आपका फोन नेटवर्क टावर के लिए सिग्नल नहीं भेज पायेगा और इसे सेआप की बैटरी को भी Save कर सकते है।

प्लेन में Flight Mode क्यों लगाया जाता है। Plan Me Flight Mode kyu lagya jata hai अगर आपने कभी प्लेन में सफर किया होगा तो आपको पता होगा जैसे ही प्लेन टेक ऑफ करने के लिए तैयार होता है तो आपको बोला जाता है फ्लाइट मोड लगाने के लिए।

इसका कारण यह है कि स्मार्टफोन अपने नेटवर्क प्रोवाइडर से नेटवर्क के लिए सिग्नल भेजता रहता है। स्मार्टफोन रेडियो फ्रीक्वेंसी से नेटवर्क प्रोवाइडर के टावर के लिए सिग्नल भेजता रहता है। जिससे हमारे स्मार्ट फोन में सिग्नल या नेटवर्क आता है और जब हम अपने नेटवर्क या अपने टावर से दूर होते रहते तो हमारा स्मार्टफोन सिग्नल को बूस्ट करने के लिए ज्यादा फ्रीक्वेंसी छोड़ता है और यह काम लगातार स्मार्टफोन करता रहता है।

इसके वजह से कई बार एरोप्लेन के सेंटर पर और जो भी नेविगेशन सिस्टम होता उससे प्रॉब्लम आ जाता है। उसको प्रभावित ना कर दे। उसने आपके मोबाइल फोन को फ्लाइट मोड पर लगाया जाता है।  

अब आपके दिमाग मे होगा कि प्लेन में Wifi तो use किया जाता है। तो wifi से प्लेन की नेविगेशन को कोई प्रॉब्लम नही होती है ।   तो इसका जवाब किसी को भी कॉल करते समय या SMS भेजते समय या डाटा ऑन करते हैं तब आपका मोबाइल फोन आपके नेटवर्क ऑपरेटर से कनेक्ट करता है और उस समय वहां पर जो रेडियो फ्रीक्वेंसी होती है वह जीरो पॉइंट 8 गीगा Hz से 2.5 तक होती है।  

लेकिन अगर आप प्लेन में वाईफाई ऑन करके इंटरनेट चलाते हैं तो उसके जो फ्रीक्वेंसी होती हैं वह भी रेडियो वेव होती हैं लेकिन उनकी जो फ्रीक्वेंसी होती है वह काम होती है। wifi भी 10 से 20 मिनट तक ही काम करता है। इसी वजह से प्लीज में वाईफाई दिया गई है।  

वाई-फाई यूज करके इंटरनेट चला सकते हैं लेकिन मोबाइल डाटा को यूज करने की अनुमति नहीं दी जाती है। मोबाइल डाटा को प्लेन में इसीलिए बंद रखा जाता है। अभी सब समझ गए हैं कि जब आप किसी को कॉल करते हैं तो वहां पर जो Radio Frequency निकलती वो एरोप्लेन का जो नेविगेशन सिस्टम होता है उसको प्रभावित कर सकती है।   इसीलिए प्लेन में Flight Mode को On करने के लिए बोला जाता है।    

फ्लाइट में Airplan Mode नहीं लगाए तो क्या होगा

अगर स्मार्टफोन को फ्लाइट में एरोप्लेन मोड नहीं लगाई जाए तो उसे आपको कोई दिक्कत नहीं होगी लेकिन हो सकता है कि आपका जो प्लेन उड़ा रहा है आपका पायलट उसको और ट्रैफिक कंट्रोलर को आपकी फ्लाइट मोड ना लगाने से दिक्कत हो सकती है  और कोई बड़ी दुर्घटना भी हो सकती है। फ्लाइट मोड को नही लगाने से प्लेन में कोई खराबी भी आ सकती है

और इसकी वजह से पायलट को भी काफी दिक्कत हो सकती है क्योंकि स्मार्टफोन  की Radio Frequency के कारण प्लेन में कोई सिस्टम में दिक्कत आ सकती है। लेकिन अगर बहुत सारी मात्रा में अगर अपने मोबाइल फोन को ऑन करके चलाये गे तो हो सकता है कि कोई दुर्घटना हो भी जाए। लेकिन कोई दुर्घटना ना हो उसके लिए फ्लाइट मोड को On कर लेना चाइये।

फ्लाइट मोड लगाने के बाद क्या क्या यूज नहीं की जा सकता है।

Airplan Mode को लगाने के बाद आप Call , Sms, और जीपीएस को यूज़ नही कर सकते है। Mobile Network Airplan Mode लगाने के बाद आपका स्मार्टफोन बंद हो जाएगा आपका स्मार्टफोन नेटवर्क ऑपरेटर के टावर के साथ कम्यूनिकेट नही कर पाएगा जिस कारण आप वॉइस कॉल और एसएमएस नहीं कर सकते हैं।

किसी को कॉल भी नही कर पाएंगे और ना ही मैसेज और ना ही आपको कोई मैसेज या कॉल कर सकता है। वाईफाई आपके फोन में Flight Mode लगाने के बाद आप अपने वाईफाई सिग्नल से भी डिसकनेक्ट फ्लाइट मोड लगते ही आपका वाईफाई Off हो जाएगा अगर आप कोई वाईफाई यूज कर रहे तो वह भी बंद हो जाएगा।

वैसे आप wifi को ऑन कर सकते है। फ्लाइट मोड को लगाने के बाद आप फिर से wifi को ऑन कर सकते है। Bluethooth Flight Mode  को ऑन करते ही आपका ब्लूएटूथ भी ऑफ हो जाता है। ब्लूएटूथ से आप अगर कोई song , मूवी, देख रहे है तो वो भी ऑफ हो जाएगा। निष्कर्ष

Airplane Mode फ्लाइट मोड क्या है फ्लाइट मोड में इंटरनेट कैसे चलता है। पूरी जानकारी

आज हमने इस पोस्ट में बात की Airplan Mode की यह क्या हैै कैसे काम करता है। Flight मोड क्या है कैसे काम करता है। फ्लाइट मोड को कैसे On करते है। और प्लेन में फ्लाइट मोड को क्यों लगाने को बोला जाता है। हमने इस पोस्ट में पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। उम्मीद करते है आपको जानकरी पसंद आयी होगी। इस पोस्ट को सोशल मीडिया में शेयर करे।

मेरा नाम अर्जुन है में ज्ञानहिंदी का फाउंडर हूँ हम इस ब्लॉग में टेक्नॉलजी एंड्राइड ब्लॉग ऑनलाइन पैसा कैसे कमाए से जुड़ी जानकारी पोस्ट करते है।

Leave a Comment